Apne 20s me spiritual grow kaise karen

Sharing Is Caring

Apne 20s me spiritual grow kaise karen

 

Spiritual grow

 

अक्सर हम सब के मन में ये एक सवाल हमेशा आता है कि जीवन में क्या है हमारे पास क्या लेकर जायेंगें और सबसे बड़ी बात मैं यहां क्यों हूं ये सब कुछ सवाल सबके दिमाग में आते है तो आज हम इसी विषय पर बात करेगें कि कैसे अपने जीवन में अपने 20s में कैसे अध्यात्म की तरफ़ बढ़े

 

दुनिया की समस्या

 

अकसर हम सब समस्या में इतना उलझ के रह जाते है कि हमे कुछ पता ही नहीं होता मेरा मतलब है कि हम कुछ समझ में ही नहीं पाते कि हमारे लिए क्या सही है क्या गलत है हमारे पास उस वो समस्या होती है ये तो हमे पता होता है पर उस समस्या का हल भी हमारे पास ही होता है पर हम इतना टेंशन से घिर जाते है कि हमे उस समस्या का हल दिखाईं ही नही देता है फिर हम बाहर जाकर लोगों से सलाह लेते है दुनिया भर की सारी चीज़ें को अपनाने लगते है समस्या के समाधान के लिए पर जब अंत में हमे निराशा हाथ लगती है तब हम भगवान पर दोष डाल देते है कि आप ने ये किया फिर उसने बैर कर लेते है पर मैं कहना चाहूंगा कि शुरू से लेकर अंत तक आपका भगवान को देखने का नजरिया ही गलत है क्यों

 

क्योंकी जब समस्या आती है तो पहले आप दुनिया वालो से पूछते है उसके बाद जब सब कहीं से हार जाते है फिर प्रभु पर गुस्सा करते है पर आपको ऐसा नहीं करना चाहिए जब भी जीवन में जैसे भी समस्या आए तो पहले प्रभु के चरणों में जाए और उनसे बड़े ही मन से प्रार्थना करे कि हे प्रभु मैं आप पर पूरा विश्वास करता है मुझे आप पर भरोसा है अगर समस्या आई है तो उसका समाधान भी अवश्य आया होगा हे प्रभु मुझे समाधान तक पहुंचाइए अगर आप ऐसा करते है तो जल्द ही आपकी समस्या का समाधान मिल जाएगा

भावनात्मक विचार –

 

Spiritual

 

आप अपने 20s में अगर आध्यात्मिक ग्रोथ चाहते है तो आपको सबसे पहले अपने भावनाओ पर नियन्त्रण रखना होगा क्योंकी एक सच्चा और एक सफल इंसान वही होता है जो अपने आप को मेंटली मजबूत रख सकें अक्सर हम कई बार हर चीज की overthinking करते रहते है किसी भी बात को हम अपने मन में इतना बड़ा बना देते है जिससे वो बात हमारे मस्तिष्क में ही बैठ जाती है जिससे हमारे आने वाले भविष्य में बहुत से कठिनाई का सामना करना पड़ता है इसलिए सबसे पहले अपने मन में जो बुरी बात है बुरी आदतें है बुरा सपना है बुरा सच है उसको निकालिए जीवन में कभी भी वर्तमान में खुल के जीना है तो अतीत को पिछे छोड़ना ही पड़ेगा जबतक आप अतीत को पिछे नहीं छोड़ेंगे तब तक वो आपका पीछा भी नहीं छोड़ेगा इसलिए पुरानी बात को अपने जीवन से डिलीट करिए तभी आप खुल के जीवन जी सकते है।

 

नजरिया बदलें

 

देखिए दोस्त दुनिया फ्राड है दुनिया मक्कार है दुनिया में सब बुरे है ये सोच अगर आपकी है अगर ये आपका नजरिया है दुनिया देखने का तो मेरे दोस्त अभी आपने आध्यात्म के बारे में कुछ नही जाना क्योंकी अध्यात्म खुद को बदलने का मार्ग दिखाता है आपको अध्यात्म ये सिखाता है कि आप संसार को जिस रुप से देखोगे वो आपको उसी रुप में दिखाईं देगा इसलिए आप अपने देखने के नजरिया में परिवर्तन करिए आप अगर ये सोचोगे कि संसार में जो भी कुछ होता है वो भले के लिऐ ही होता है उसके पिछे कोई न कोई कारण अवश्य होता हैं मैं जानता हूं नजरिया देखने का बदलना अचानक से मुश्किल होगा पर धीरे धीरे जब आप अभ्यास करेगें कि इस जगत में सब अच्छे है सब एक दूसरे की सहायता करते है तो कुदरत भी आपको उसी व्यक्ति से मिलाएगी जो सच्चा हो अच्छा हो आपकी तरह हम अक्सर ये सोचते है कि मुझे ही सब बुरे इंसान क्यों मिलते है तो उसका जवाब ये है कि आपका शायद देखने का नजरिया ही वही हो हम कभी भी अपने जीवन में इन छोटी छोटी बातों पर ध्यान नही देते है पर यही सब वजह हमे सबसे ज्यादा परेशान करती है इसलिए अपने देखने का रूप बदले वो कहते है ना कि मानो तो मैं गंगा मां हूं ना मानो तो बहता पानी इसलिए पहले आप बदलाव करिए फिर जग बदलेगा

 

मेरा इन सब बातो से समझाने का मतलब यही है कि पूजा करते है तो पूजा करिए भक्ति करिए प्रभु से सारी मन की बातो को शेयर करिए पर साथ साथ अपने तन के साथ साथ अपने मन को भी एक सही दिशा दीजिए आध्यात्म वो मार्ग है जो अगर आपने समय से इस मार्ग को चुन लिया फिर आपको अपने जीवन में कभी अकेलापन मेहसूस नही होगा और सफल इंसान तो आप बनेंगे ही उसके साथ साथ एक प्रभु के मजबूत इंसान भी बनेंगे बस अपना नजरिया बदले साकारात्मक सोच रखें कभी भी हार न मानें और जीवन में चाहे जितनी भी समस्या आए उसको शांत मन में एकांत रह कर या अपनो के साथ सलाह लेके उसे समझाएं

 

Thank you


Sharing Is Caring

Leave a Comment