लाइफ के अच्छे बुरे किस्से | Life Ke Acche Bure Kisse

Sharing Is Caring

लाइफ के अच्छे बुरे किस्से | Life Ke Acche Bure Kisse

 

 

Life Ke Acche Bure Kisse

 

हम अक्सर अपने जीवन के अच्छे बुरे यादों में इस तरह से फस जाते है कि फिर हम चाह कर भी उस यादों से बाहर नहीं निकल पाते है हम अपने आप को इतना दुखी और इतना बेबस मान लेते है जिससे हमे सब कुछ खत्म हो गया ऐसा लगने लगता है पर अगर आप भी कभी ऐसी परिस्थिति में जाओ तो सबसे पहले तो आपको ज्यादा सोचना

बंद करना होगा आप एक काम करो जैसे ही मन में अनगिनत विचार आने लगे आप दौड़ने लगो या वहीं पर खड़े खड़े रनिंग करने लग जाओ इससे जो अत्यधिक विचार आपके दिमाग में आ रहे है वो काफ़ी हद तक कम हो जाएंगे

जब जीवन से दुखी हो जाओ सब कुछ बस फीका सा लगे तो तो अपने मन में एक बार झांको मेरा मतलब है कि एक बार खुद से पूछो खुद की कमियों को पहचानो और उस कमी की वजह क्या है वहां तक जाओ जब आपको वो वजह मिल जाए तो उसे ठीक करने की कोशिश करना शुरु कर दीजिएगा और साथ साथ साकारात्मक एफर्मेशन भी बोलना शुरु कर देना आपको रोज सुबह अच्छे अच्छे एफरमेशन बोलना शुरु करदो यकीन मानिए आप जिस भी चीज से परेशान थे वो अब आपको परेशान नहीं कर पाएगा और न ही आप कोई तनाव लेंगे

 

jealousy

 

संकल्प शक्ति – 

 

हमारे चाचा चाची नाना नानी अंकल आंटी ये सब अपने जीवन में कहां गए है और कहां तक जायेंगें हमारा जीवन में इस पर निर्भर नहीं करता हम अपने जीवन में किस तरह से काम कर रहे है ये मैटर करता है आपकी इच्छाशक्ति या संकल्पशक्ति ही बताती है कि आप अपने जीवन में कितना आगे बढ़ पाएंगे इसलिए आप हमेशा जो भी चीज को अपने जीवन में पाना चाहते है उसके लिए एक मजबूत इच्छाशक्ति का होना बहुत जरूरी है जब आप अपने काम में अपने जीवन में जिस भी चीज को चुनेंगे वो आपकी हो जाएगी फिर चाहे वो डॉक्टर बनना हो या कोई अधिकारी कोई भी हो आप ज़रूर पा लेंगे

 

 

बुरे किस्से को भुलाना –

 

बुरे किस्से बूरे सपने ये विषय गंभीर के साथ साथ मजाकिया भी है अब मजाकिया क्यों है क्योंकी सारा खेल आपके माइंडसेट का है आप के माइंड में आप जैसा अच्छा या बुरा फील करते हो वो आपके दिल और दिमाग पर बैठ जाता है अगर कोई अच्छा किस्सा हो तो हम इतना याद नही रख पाते है कुछ दिन या कुछ हफ्तों में भूल जाते है लेकिन वहीं कोई बुरा किस्सा हुआ हो जो हमको बहुत दुखी किया हो वो बहुत हद तक याद होता है कभी कभी तो पूरे हम उस बात को नहीं भूल पाते है क्योंकी हमारा दिमाग अच्छी यादों को जल्दी मान कर भुला देता है पर बुरी बात या कोई बुरा सपना को वो अपने अंदर चलाता रहता है घूम फिर कर वहीं यादें हमारे दिमाग में नाचती रहती है जिससे हम उस बात को सोचते ही रोने लगते है या दुखी हो जाते है अब इससे बाहर कैसे निकला जाए ये पढिए

 

self confidence

इसको भी जरूर पढिए

आत्मविश्वास कैसे बढ़ाएं 

इसका उपाय ये है कि जब भी कभी कोई बुरा किस्सा हो तो उसे कभी अपने दिमाग पर बैठने न दे मेरा मतलब है कि तुरंत ही उस समय जितना भी मन में उस बात के प्रति गुस्सा हो या जलन हो या डर हों जो भी हो किसी से साझा कर दीजिए अक्सर वहीं बाते हमारे लिए बुरा किस्सा बन जाती है जिसे हम अपने सीने में ही दबाए रह जाते है इसलिए अपनी किसी भी बात को जिससे आपको बहुत बैचैनी ही रही हो तो वो किसी से बता दीजिए इससे ये फायदा होगा कि आपका मन पहले से बहुत हल्का हो जायगा और आप बहुत रिलैक्स मेहसूस करोगे

 

Note –

 

अगर आपको भी इसी ब्लॉग में कुछ कमियां लग रही हो जो आपको सही न लगें तो या कुछ और बातें मिलानी हो इस विषय से संबंधित तो हमे ज़रूर कॉमेंट करके बताए और अगर आपको भी ये ब्लॉग पढ़ कर अच्छा लगा हो तो आपसे निवेदन हैं कि एक कमेंट करके ज़रूर बताएं और हमे ये बताएं कि हम अगली ब्लॉग किस विषय पर बनाए हमे आपकी कमेंट का इंतजार रहेगा

 

Thank you


Sharing Is Caring

Leave a Comment